बेटिया हमारी शक्ति, हमारा अभिमान

Updated Mon, 17 Dec 2018 09:56 PM IST
बेटिया हमारी शक्ति, हमारा अभिमान
विज्ञापन
ख़बर सुनें
नई टिहरी। अमर उजाला के अपराजिता: 100 मिलियन स्माइल महाभियान के तहत भागीरथीपुरम नरेंद्र महिला विद्यालय में किशोरी स्वास्थ्य जागरूकता कार्यक्रम आयोजित किया गया। विशेषज्ञ डॉक्टरों ने बालिकाओं को बेहतर स्वास्थ्य संबंधी टिप्स दिए। प्राथमिक उपचार के गुर बतलाए। कहा बेटियां अपनी शक्ति और संवेदनशीलता से नए-नए कीर्तिमान स्थापित कर रही है।
विज्ञापन

जिला रेडक्रास समिति के अध्यक्ष डा. वीएन जोशी ने कहा कि महिलाओं का स्वस्थ रहना जरूरी है, तभी स्वस्थ समाज हो सकता है। ज्ञान अर्जित करने के लिए मोबाइल, लैपटाप और टीवी देखना जरूरी है, लेकिन इसके लिए समय निर्धारित करना भी आवश्यक है।

डा. नीरज करदम ने मासिक धर्म के दौरान होने वाली परेशानियों से निजात पाने की जानकारी दी। मासिक धर्म के दौरान साफ-सफाई पर अधिक ध्यान देने की जरूरत होती है। इस दौरान छात्राओं ने डॉक्टरों से बाल अधिक झड़ने, पैरों में दर्द होने, नींद अधिक आने, नींद में बोलने, राह चलते सास फूलने संबंधी समस्याओं का समाधान करने के उपाय भी पूछे। इस मौके पर प्रभारी प्रधानाचार्य आराधना कुकरेती, एनएसएस कार्यक्रम अधिकारी पार्वती बिष्ट, मंजू किरन, कदर्भ सेमल्टी, नीमा रणथवाल, रीता लखेड़ा उपस्थित रही।


मासिक धर्म के दौरान होने वाली परेशानियों के बारे में अब तक हम दूसरे से बात नहीं कर पाते थे। स्कूल में आकर डॉक्टरों ने आज जो सुझाव दिए हैं, उससे आत्मविश्वास बड़ा है। अब अपनी दिक्कतों को मां या सहेली को बताने में शर्म महसूस नहीं होगी।
-वैष्णवी, छात्रा नरेंद्र महिला विद्यालय

अपराजिता अभियान से नि:संकोची बनने की सीख मिली है। बीमारी से कैसे निजात पाना है इसके लिए डॉक्टरों की ओर से दिए गए टिप्सों पर अमल कर स्वस्थ नागरिक बनना है। सही खानपान को दैनिक दिनचर्या में शामिल करेंगे।
-विशुण्वी चौहान, छात्रा नरेंद्र महिला विद्यालय

बेहतर स्वास्थ्य के लिए डॉक्टरों ने नियमित रूप से खेलने, व्यायाम और योग करने का सुझाव दिया है, जो हमारे जीवन के लिए उपयोगी साबित होगा। छात्राओं की बहुत परेशानी एक जैसे थी, डॉक्टरों से प्रश्न पूछकर हमारी जिज्ञासा का समाधान हो गया।
-शीतल सरियाल, छात्रा नरेंद्र महिला विद्यालय

छात्राओं के स्वास्थ्य को और अधिक बेहतर कैसे बनाया जा सकता है। नई सोच के साथ अमर उजाला अपराजिता महाभियान ने खुली परिचर्चा कराकर छात्राओं का मनोबल बढ़ाने का काम किया है। जागरूकता कार्यक्रमों के माध्यम से ही समाज को स्वस्थ बनाया जा सकता है।
-आराधना कुकरेती, प्रभारी प्रधानाचार्य नरेंद्र महिला विद्यालय

आपकी राय हमारे लिए महत्वपूर्ण है। खबरों को बेहतर बनाने में हमारी मदद करें।

खबर में दी गई जानकारी और सूचना से आप संतुष्ट हैं?
विज्ञापन
विज्ञापन

रहें हर खबर से अपडेट, डाउनलोड करें Android Hindi News App, iOS Hindi News App और Amarujala Hindi News APP अपने मोबाइल पे|
Get all India News in Hindi related to live update of politics, sports, entertainment, technology and education etc. Stay updated with us for all breaking news from India News and more news in Hindi.

विज्ञापन
विज्ञापन

प्रिय पाठक

कृपया अमर उजाला प्लस के अनुभव को बेहतर बनाने में हमारी मदद करें।
डेली पॉडकास्ट सुनने के लिए सब्सक्राइब करें

क्लिप सुनें

00:00
00:00