उत्तराखंड चुनाव: 12 शिवलिंग से घर बैठे मंगवा सकेंगे गंगाजल, अमित शाह करेंगे योजना की शुरुआत

Amit Sharma Digital अमित शर्मा
Updated Wed, 27 Oct 2021 05:59 PM IST

सार

उत्तराखंड प्रबुद्ध योजना के उपाध्यक्ष मोहन सिंह बिष्ट ने अमर उजाला को बताया कि इस समय राज्य के हर विधानसभा में प्रबुद्ध वर्ग सम्मेलन आयोजित किये जा रहे हैं। इसका दूसरा भाग दीपावली के बाद शुरू किया जायेगा। इसके तहत सभी विधानसभाओं में हर बूथ से कम से कम दस प्रबुद्ध नागरिकों को भाजपा से जोड़ने की योजना है...
अमित शाह
अमित शाह - फोटो : अमर उजाला (फाइल फोटो)
विज्ञापन
ख़बर सुनें

विस्तार

भाजपा का दावा है कि वह इस बार उत्तराखंड का विधानसभा चुनाव जीतकर एक नया इतिहास रचेगी। पार्टी इसके लिए हिंदुत्व की राजनीति को एक नई धार देने की कोशिश भी करेगी। इसी रणनीति को ध्यान में रखते हुए भाजपा सभी 12 शिवलिंगों से शिवभक्तों को उनके घर पर गंगाजल पहुंचाने की योजना तैयार कर रही है। इस योजना को राज्य की सहकारी समितियों के माध्यम से पूरा किया जाएगा। इस योजना की शुरुआत गृहमंत्री अमित शाह 30 अक्तूबर को अपनी उत्तराखंड की यात्रा के दौरान करेंगे।
विज्ञापन

विदेश भी भेजेंगे जल

योजना की शुरुआत के बाद भाजपा कार्यकर्ता जगह-जगह स्टॉल लगाकर सभी 12 शिवलिंग से लाये हुए जल को शिवभक्तों को बांटेंगे। इसके लिए एक लीटर, दो लीटर और पांच-पांच लीटर के विशेष प्लास्टिक कैन तैयार कराए गए हैं। इनके लिए शिवभक्तों से नाममात्र का शुल्क भी लिया जाएगा। जो शिवभक्त देश या विदेश में कहीं दूर हैं, उनके लिए किसी भी शिवलिंग से गंगाजल पाने के लिए ऑनलाइन सुविधा भी दी जायेगी। शिवभक्त अपने प्रिय शिवलिंग स्थान का चयन कर वहां से गंगाजल पाने के लिए अनुरोध कर सकेंगे। इन शिवभक्तों को डाक विभाग या कूरियर के माध्यम से गंगाजल भेजा जाएगा। शिवभक्तों को कूरियर का शुल्क अदा करना होगा।  


चुनाव में जीत के लिए भाजपा केवल हिंदुत्व की राजनीति पर ही भरोसा नहीं कर रही है। बल्कि वह आमजन को भी अपने साथ जोड़ने की कोशिश कर रही है। अमित शाह अपनी यात्रा के दौरान घसियारी योजना की भी शुरुआत करेंगे। इसके माध्यम से उन गरीब वर्ग की महिलाओं को सुरक्षा देने से लेकर उनका आर्थिक तौर पर सशक्तिकरण किया जायेगा। यह योजना भी सहकारी समितियों के माध्यम से चलाई जाएगी।

हर बूथ से 10 प्रबुद्ध नागरिक जोड़ रही है भाजपा

उत्तराखंड प्रबुद्ध योजना के उपाध्यक्ष मोहन सिंह बिष्ट ने अमर उजाला को बताया कि इस समय राज्य के हर विधानसभा में प्रबुद्ध वर्ग सम्मेलन आयोजित किये जा रहे हैं। इसका दूसरा भाग दीपावली के बाद शुरू किया जायेगा। इसके तहत सभी विधानसभाओं में हर बूथ से कम से कम दस प्रबुद्ध नागरिकों को भाजपा से जोड़ने की योजना है। डॉक्टर, वकील, शिक्षक, पंडित-पुजारी या पूर्व वरिष्ठ अधिकारी जो भाजपा की विचारधारा से सहमति रखते हैं, लेकिन अभी तक भाजपा से नहीं जुड़े हैं, उन्हें पार्टी से जोड़ा जा रहा है। इन लोगों को भाजपा की योजनाओं की राष्ट्र के विकास में लंबे समय में पड़ने वाले असर के बारे में बताया जा रहा है। पार्टी मानती है कि ये नागरिक अपने साथ समाज के दूसरे लोगों को भी भाजपा से जुड़ने के लिए प्रेरित करेंगे।

इस बार रिकॉर्ड जीत का दावा

मोहन सिंह बिष्ट ने बताया कि राज्य की जनता केंद्र की नीतियों से सहमति रखती है और यही कारण है कि हमें पूरा भरोसा है कि इस चुनाव में जनता का पूरा समर्थन मिलेगा। उन्होंने कहा कि इस बार हम रिकॉर्ड मतों से जीत हासिल करेंगे और एक नया इतिहास बनायेंगे।

आपकी राय हमारे लिए महत्वपूर्ण है। खबरों को बेहतर बनाने में हमारी मदद करें।

खबर में दी गई जानकारी और सूचना से आप संतुष्ट हैं?
विज्ञापन
विज्ञापन

रहें हर खबर से अपडेट, डाउनलोड करें Android Hindi News App, iOS Hindi News App और Amarujala Hindi News APP अपने मोबाइल पे|
Get all India News in Hindi related to live update of politics, sports, entertainment, technology and education etc. Stay updated with us for all breaking news from India News and more news in Hindi.

विज्ञापन
विज्ञापन

प्रिय पाठक

कृपया अमर उजाला प्लस के अनुभव को बेहतर बनाने में हमारी मदद करें।
डेली पॉडकास्ट सुनने के लिए सब्सक्राइब करें

क्लिप सुनें

00:00
00:00