लोकप्रिय और ट्रेंडिंग टॉपिक्स

विज्ञापन
Hindi News ›   Video ›   Education ›   Ashish Dabral travels for over 700 km to teach students

मुफ्त शिक्षा देने के लिए आशीष हर सप्ताह गुड़गांव से जाते हैं उत्तराखंड

वीडियो डेस्क, अमर उजाला Updated Sun, 06 Mar 2016 12:06 PM IST

पहाड़ से पलायन की चिंता के बीच उत्तराखंड में पौड़ी जनपद के छोटे से गांव तिमली के रहने वाले आशीष डबराल युवाओं के लिए मिसाल हैं। गुड़गांव की एक नामी टेलीकॉम कंपनी में ऊंचे ओहदे पर कांम करने वाले आशीष हर वीकेंड गांव पहुंचते हैं और को पढ़ाते हैं। शिक्षा के प्रति इस समर्पण को लेकर ब्रिटिश टेलीकॉम कंपनी ने आशीष को दुनिया के दस शीर्ष सामाजिक लोगों में शामिल किया। ब्रिटिश टेलीकॉम ने इन्हें वॉलेंटियर ऑफ द ईयर का अवार्ड दिया गया है।

विज्ञापन
विज्ञापन

Recommended

विदेश की नौकरी छोड़कर मुफ्त में लड़कियों को देते हैं शिक्षा

Education 5 March 2016
विज्ञापन
एप में पढ़ें
जानिए अपना दैनिक राशिफल बेहतर अनुभव के साथ सिर्फ अमर उजाला एप पर
अभी नहीं

प्रिय पाठक

कृपया अमर उजाला प्लस के अनुभव को बेहतर बनाने में हमारी मदद करें।
डेली पॉडकास्ट सुनने के लिए सब्सक्राइब करें

क्लिप सुनें

00:00
00:00