विज्ञापन
Hindi News ›   Video ›   Delhi ›   manoj muntshir poem
Manoj Muntsir

... हमारे गांव में कहते थे ज़मीदार हमें : मनोज मुंतशिर

वीडियो डेस्क, अमर उजाला टीवी/ नई दिल्ली Updated Sat, 24 Jun 2017 07:57 PM IST

"तेरी गलियां" और "तेरे संग यारा" जैसे कालजयी गीत लिखने वाले गीतकार मनोज मुंतशिर के भीतर एक बेहतरीन शायर और कवि भी छुपा है। हाल ही में वह दिल्ली में एक कवि सम्मेलन में हिस्सा लेने आए थे, यहां उनके चाहने वालों ने उनका ये अनोखा अंदाज़ भी देखा। उनकी लिखावट का एक नमूना, ''तुम्हारे शहर ने दफनाया बे-मज़ार हमें, हमारे गांव में कहते थे ज़मीदार हमें। लकीरे हाथ की गिरवी हैं कारखाने में, कहाँ ले आया है खुशियों का इंतजार हमें.."

विज्ञापन
विज्ञापन

Recommended

दुनिया के सबसे अमीर इंसान को नमन, वो हमारे और आपके पिता ही हैं!

Featured 17 June 2017

ये है नोट बंदी पर प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी का ऐतिहासिक भाषण!

Featured 25 May 2017

AUTV Spl: पीएम मोदी ने ऐसे बनाई यूपी में भगवा लहर

Featured 25 May 2017

64वें राष्ट्रीय फिल्म पुरस्कार विजेताओं की खास झलकियां

Featured 4 May 2017

महाराष्ट्र को भी भाया यूपी में कर्जमाफी का योगी मॉडल

Featured 28 April 2017

अमर उजाला कॉन्क्लेव में बोले जावड़ेकर, नेताओं की जिंदगी ऐश की नहीं

Featured 22 April 2017

EXCLUSIVE: हवा में गूंजी 26 हजार घंटियां और प्रकट हो गए गदाधारी हनुमान

Featured 12 April 2017

AU TV Spl: मोदी राज में अटल के 'राष्ट्रधर्म' की मान्यता खत्म

Featured 10 April 2017

सीएम योगी की पहली कैबिनेट बैठक में हो सकते हैं ये 10 बड़े ऐलान!

Featured 4 April 2017

भगवा राजनीति का नया बाल ठाकरे, योगी !

Featured 28 March 2017
विज्ञापन
  • Downloads
    News Stand

Follow Us

  • Facebook Page
  • Twitter Page
  • Youtube Page
  • Instagram Page
  • Telegram
एप में पढ़ें

प्रिय पाठक

कृपया अमर उजाला प्लस के अनुभव को बेहतर बनाने में हमारी मदद करें।
डेली पॉडकास्ट सुनने के लिए सब्सक्राइब करें

क्लिप सुनें

00:00
00:00