ओमिक्रॉन के साये में वैश्विक अर्थव्यवस्था

अमर उजाला

Fri, 3 December 2021

Image Credit : अमर उजाला

विशेषज्ञों को सता रही चिंता

थिंकटैंक ऑर्गनाइजेशन फॉर इकोनॉमिक को-ऑपरेशन एंड डेवलपमेंट ने कहा कि ओमिक्रॉन गंभीर होता है तो कड़े प्रतिबंध लग सकते हैं। ऐसे में हालात बिगड़ेंगे।
Image Credit : अमर उजाला

कई देशों में ओमिक्रॉन की दस्तक

दक्षिण अफ्रीका में मिला ओमिक्रॉन तेजी से पैर पसार रहा है। भारत समेत कई देशों में ये दस्तक दे चुका है। ऐसे में इसका काला साया वैश्विक अर्थव्यवस्था पर भी मंडराने लगा है। 
Image Credit : अमर उजाला

आर्थिक सुधार में बनेगा रोड़ा 

ओमिक्रॉन को लेकर कई देशों में दहशत है। इसका दायरा बढ़ने पर वैश्विक अर्थव्यवस्था पर असर होगा। यह आर्थिक सुधार की राह में रोड़ा बन सकता है। 
Image Credit : अमर उजाला

डेल्टा से 30 गुना घातक 

विश्व स्वास्थ्य संगठन द्वारा ओमिक्रॉन को 'चिंताजनक' के रूप में वर्गीकृत करने के बाद इसकी दहशत बढ़ी। वैज्ञानिकों ने कहा कि यह डेल्टा वैरिएंट से 30 गुना तक तेज है।
Image Credit : अमर उजाला

संक्रमण बढ़ा तो बिगड़ेंगे हालात

ओमिक्रॉन का प्रसार बढ़ा तो कई देशों में स्वास्थ्य प्रणाली चरमरा सकती है। यह सरकारों को नए सिरे से आपातकालीन वित्तीय सहायता मुहैया कराने को मजबूर कर सकता है। 
Image Credit : अमर उजाला

मांग को लगेगा बड़ा झटका

ओमिक्रॉन अपेक्षा से अधिक गंभीर होता है, तो प्रतिबंध लागू होंगे, जिससे वस्तुओं-सेवाओं की मांग को बड़ा झटका लग सकता है, जैसा कोरोना के शुरुआती चरण में दिखा था। 
Image Credit : अमर उजाला

लंबे समय तक रहेगी महंगाई

अर्थशास्त्री लॉरेंस बूने ने कहा कि संभावित परिदृश्यों की बात करें तो इसका प्रभाव आपूर्ति व्यवधान पैदा कर उच्च मुद्रास्फीति को लंबे समय तक बनाए रख सकता है। 
Image Credit : अमर उजाला

टीकाकरण में मिली विफलता 

बूने ने कहा कि ओमिक्रॉन बताता है कि हम अर्थव्यवस्थाओं के लिए खर्च कर रहे हैं, पर पूरी दुनिया का टीकाकरण करने में विफल रहे हैं।
Image Credit : अमर उजाला

कारोबार की अन्य खबरों के लिए क्लिक करें

Image Credit : Pexels.com
Read More