गोलकुंडा किले का गौरवशाली इतिहास

अमर उजाला

Tue, 26 April 2022

Image Credit : iStock

This browser does not support the video element.

भारत के भव्य इतिहास की कहानी बताता है गोलकुंडा किला

Video Credit : Pixabay

गोलकुंडा किला तेलंगाना की राजधानी हैदराबाद के पास स्थित है

Image Credit : iStock

This browser does not support the video element.

ऐतिहासिक गोलकुंडा किले का नाम तेलुगु शब्द 'गोल्ला कोंडा' पर रखा गया है, शुरुआत में यह मिट्टी का किला था

Video Credit : Pixabay

मुहम्मद शाह और कुतुब शाह के जमाने में इसे विशाल चट्टानों से बनवाया गया

Image Credit : iStock

This browser does not support the video element.

देश के सबसे बड़े और सुरक्षित किलों में से एक गोलकुंडा बहमनी के शासकों के भी अधीन रहा

Video Credit : Pixabay

किसी जमाने में गोलकुंडा के इलाके की हीरे की खान से ही कोहिनूर हीरा निकला था

Image Credit : Pintrest

This browser does not support the video element.

दक्कन के पठार में बना यह किला सबसे बड़े किलों में से एक था, इसे 400 फुट ऊंची पहाड़ी पर बनवाया गया है

Video Credit : Pixabay

इस किले में 8 भव्य प्रवेश द्वार हैं जिन पर 15 से 18 मीटर की ऊंचाई वाले 87 बुर्ज बने हैं

Image Credit : Pexels

This browser does not support the video element.

किले के सबसे ऊपरी भाग पर जाएं तो आपको इसकी ऊंचाई का पता चलेगा, जहां से पूरा हैदराबाद नजर आता है

Video Credit : Pixabay

इस किले के कुछ हिस्से ऐसे भी हैं, जहां किसी को जाने की इजाजत नहीं

Image Credit : Pixabay

किले के द्वार के नीचे अगर आप ताली बजाएंगे, तो उसकी ध्वनि किले के सबसे ऊंचाई वाले भवन तक सुनी जा सकती है

Image Credit : iStock

माना जाता है कि गोलकुंडा के किले में एक गुप्त भूमिगत सुरंग थी जो 'दरबार हॉल' से पहाड़ी की तलहटी तक जाती थी

Image Credit : iStock

महाराष्ट्र में मुंबई छोड़ ये जगहें घूमें

iStock
Read Now