बोरिस जॉनसन या जेरेमी हंट: 23 जुलाई को सस्पेंस होगा खत्म, ब्रिटेन को मिलेगा नया पीएम

वर्ल्ड डेस्क, लंदन Published by: रत्नप्रिया रत्नप्रिया Updated Wed, 10 Jul 2019 12:21 PM IST
बोरिस जॉनसन और जेरेमी हंट
बोरिस जॉनसन और जेरेमी हंट - फोटो : You Gov Britain
विज्ञापन
ख़बर सुनें
इस 23 जुलाई को ब्रिटेन को नया प्राधनमंत्री मिलने वाला है। इस पद के लिए बोरिस जॉनसन और जेरेमी हंट आमने-सामने हैं। दोनों के बीच कड़ा मुकाबला है। इस पद पर चुनाव के लिए ब्रिटेन में सत्तारूढ़ कंजर्वेटिव पार्टी के 1.60 लाख सदस्यों को 22 जुलाई तक बैलेट वोट भेजने होंगे। इसके बाद 23 जुलाई को नतीजे सामने आएंगे। इससे पहले यहां हम आपको सदस्यों की पसंद के बारे में बता रहे हैं। आखिर ब्रिटेन में सत्तारूढ़ पार्टी के सदस्य किस उम्मीदवार को अपने प्रधानमंत्री के रूप में देखना चाहते हैं।
विज्ञापन


यूगव/टाइम्स सर्वेक्षण के अनुसार, बोरिस जॉनसन को 74% जबकि जेरेमी हंट को 26% सदस्यों ने पसंद किया है। आइए जानते हैं, दोनों नेताओं की लोकप्रियता और उनकी पसंद के बारे में...

बोरिस जॉनसन Vs जेरेमी हंट

बोरिस जॉनसन 

  • दो बार सांसद, विदेश मंत्री, लंदन के महापौर की भूमिका में रह चुके हैं। 
  • बोरिस टेलीग्राफ अखबार में साप्ताहिक कॉलम लिखते हैं।
  • इसके अलावा बोरिस गर्लफ्रेंड के साथ रिश्तों को लेकर भी चर्चा में हैं।
  • ब्रेग्जिट पर रुख : बोरिस जॉनसन ने ब्रेग्जिट को स्टुपिड कहा था। वह चाहते हैं कि यूरोपियन यूनियन (EU) द्वारा दिए विकल्प पर फिर से बात हो। 31 अक्टूबर तक डील न हो तो ईयू छोड़ दिया जाए। ईयू के 2.73 लाख करोड़ रुपये रोक दिये जाएं। 
  • टैक्स पर रुख : बोरिस ब्रिटेन के 30 लाख अमीरों का टैक्स घटाने और प्रवासियों के लिए पॉइंट आधारित सिस्टम बनाना चाहते हैं। 
  • खर्च व सैलरी : बोरिस सार्वजनिक सेक्टर की सैलरी में बढ़ोतरी करने और पुलिस में 20,000 नई भर्तियां किये जाने के पक्षधर हैं।

जेरेमी हंट

  • विदेश सचिव, स्वास्थ्य सचिव, संस्कृति सचिव और सांसद रह चुके हैं।
  • जेरेमी स्वास्थ्य सचिव के तौर पर जूनियर डॉक्टरों के साथ सख्त थे।
  • इसके अलावा वह भारत के साथ संबंध मजबूत करने के लिए काम कर रहे हैं।
  • ब्रेक्जिट पर रुख : जेरेमी मानते हैं कि यूरोपियन यूनियर (EU) के विकल्प पर बात करना जरूरी है। उनका कहना है कि अगर 30 सितंबर तक डील नहीं हुई तो नो डील ब्रेक्जिट लागू होगा। EU के 2.73 लाख करोड़ रुपये घटाए जाएंगे।
  • टैक्स पर रुख : जेरेमी चहते हैं कि कॉरपोरेट टैक्स को घटा कर 12.5% किया जाए। कुशल आप्रवासी कामगारों को प्राथमिकता मिलनी चाहिए। 
  • खर्च पर क्या कहा : जेरेमी का कहना है कि अगले 5 साल में सैन्य खर्च में 1.05 लाख करोड़ रुपये की बढ़ोतरी की जानी चाहिए।

क्या है लोगों की राय

सर्वे के अनुसार ब्रिटेन में लोगों का मानना है कि निजी जिंदगी से उन्हें फर्क नहीं पड़ता। उनके अनुसार, बोरिस जॉनसन अच्छे प्रधानमंत्री साबित होंगे।
विज्ञापन

आपकी राय हमारे लिए महत्वपूर्ण है। खबरों को बेहतर बनाने में हमारी मदद करें।

खबर में दी गई जानकारी और सूचना से आप संतुष्ट हैं?
विज्ञापन
विज्ञापन

रहें हर खबर से अपडेट, डाउनलोड करें Android Hindi News App, iOS Hindi News App और Amarujala Hindi News APP अपने मोबाइल पे|
Get latest World News headlines in Hindi related political news, sports news, Business news, Crime all breaking news and live updates. Stay updated with us for all latest Hindi news.

विज्ञापन
विज्ञापन

प्रिय पाठक

कृपया अमर उजाला प्लस के अनुभव को बेहतर बनाने में हमारी मदद करें।
डेली पॉडकास्ट सुनने के लिए सब्सक्राइब करें

क्लिप सुनें

00:00
00:00