लोकप्रिय और ट्रेंडिंग टॉपिक्स

Hindi News ›   World ›   India abstained in UNSC on resolution establishing humanitarian exemption across all UN sanctions regimes

UNSC: 'आतंकी फायदा उठाते हैं', प्रतिबंध झेल रहे देशों को मानवीय सहायता देने के प्रस्ताव से भारत ने बनाई दूरी

वर्ल्ड डेस्क, अमर उजाला, संयुक्त राष्ट्र Published by: प्रांजुल श्रीवास्तव Updated Sat, 10 Dec 2022 10:12 AM IST
सार

संयुक्त राष्ट्र सुरक्षा परिषद में भारत की स्थायी प्रतिनिधि रुचिरा कंबोज ने कहा कि प्रस्ताव को लेकर हमारी चिंताएं हैं। उन्होंने कहा, आतंकवादी संगठन इस तरह की छूट का पूरा फायदा उठाने की कोशिश करेंगे।

Ruchira Kamboj, Ambassador of India to UN at UNSC briefing
Ruchira Kamboj, Ambassador of India to UN at UNSC briefing - फोटो : ANI
विज्ञापन

विस्तार

संयुक्त राष्ट्र सुरक्षा परिषद के एक और प्रस्ताव से भारत ने दूरी बना ली है। दरअसल, सुरक्षा परिषद में अमेरिका और आयरलैंड की ओर से प्रतिबंधित किए गए देशों में मानवीय सहायता की छूट देने का प्रस्ताव पास किया गया था।



इस प्रस्ताव पर वोटिंग के दौरान भारत ने यह कहते हुए दूरी बना ली कि भारत के पड़ोसी देश के अलावा ब्लैकलिस्ट किए गए आतंकवादी संगठन इस तरह की छूट का फायदा फंडिंग और सदस्यों की भर्ती के लिए उठा सकते हैं। 


क्या कहा गया है प्रस्ताव में?
प्रस्ताव में कहा गया है कि किसी भी देश की मानवीय सहायता के समय फंड व अन्य वित्तीय संपत्तियों के अलावा वस्तुओं और सेवाओं का भुगतान आवश्यक है और यह संयुक्त राष्ट्र सुरक्षा परिषद द्वारा लगाए गए प्रतिबंध समिति ओर संपत्ति फ्रीज का उल्लंघन नहीं माना जाएगा। 

भारत ने क्या कहा?
संयुक्त राष्ट्र सुरक्षा परिषद में भारत की स्थायी प्रतिनिधि रुचिरा कंबोज ने कहा कि इस प्रस्ताव को लेकर हमारी चिंताएं हैं। उन्होंने कहा, आतंकवादी संगठन इस तरह की छूट का पूरा फायदा उठाने की कोशिश करेंगे। उन्होंने कहा कि हमारे पड़ोसी देश में आतंकवादी संगठनों के कई मामले सामने आए हैं, जिनमें इस परिषद द्वारा ब्लैकलिस्ट किए गए आतंकवादी संगठन भी शामिल हैं, जिन्होंने इस तरह के प्रतिबंधों से बचने के लिए खुद को मानवीय संगठनों और नागरिक समाज संगठन के रूप में पेश किया है। भारत ने इस दौरान प्रस्ताव को लेकर सावधानी बरतने का भी आह्वान किया। 

15 में 14 देशों ने पक्ष में किया मतदान 
मानवीय सहायता की छूट वाले प्रस्ताव पर 15 में से 14 देशों ने पक्ष में मतदान किया। सिर्फ भारत ही ऐसा देश था, जिसने प्रस्ताव का विरोध किया। शुक्रवार का पेश हुए इस प्रस्ताव पर अमेरिका ने कहा कि यह प्रस्ताव अनगिनत लोगों के जीवन बचाएगा। 

विज्ञापन
विज्ञापन

रहें हर खबर से अपडेट, डाउनलोड करें Android Hindi News App, iOS Hindi News App और Amarujala Hindi News APP अपने मोबाइल पे|
Get latest World News headlines in Hindi related political news, sports news, Business news all breaking news and live updates. Stay updated with us for all latest Hindi news.

विज्ञापन
विज्ञापन

एड फ्री अनुभव के लिए अमर उजाला प्रीमियम सब्सक्राइब करें

एप में पढ़ें
जानिए अपना दैनिक राशिफल बेहतर अनुभव के साथ सिर्फ अमर उजाला एप पर
अभी नहीं

प्रिय पाठक

कृपया अमर उजाला प्लस के अनुभव को बेहतर बनाने में हमारी मदद करें।
डेली पॉडकास्ट सुनने के लिए सब्सक्राइब करें

क्लिप सुनें

00:00
00:00