लोकप्रिय और ट्रेंडिंग टॉपिक्स

Hindi News ›   World ›   Pakistan: Shehbaz government follows the path of Imran, want to buy cheaper crude oil from Russia

Pakistan: इमरान के रास्ते पर चली शहबाज सरकार, पाकिस्तान खरीदेगा रूस से सस्ता तेल

वर्ल्ड डेस्क, अमर उजाला, इस्लामाबाद Published by: Harendra Chaudhary Updated Tue, 06 Dec 2022 03:25 PM IST
सार

Pakistan: पाकिस्तान के अखबार द न्यूज ने पिछले हफ्ते खबर दी थी कि रूस गए पाकिस्तानी प्रतिनिधिमंडल ने रूस से कच्चे तेल पर 30 से 40 फीसदी तक का डिस्काउंट मांगा था। उस खबर में बताया गया था कि रूस ने कोई डिस्काउंट देने से यह कहते हुए इनकार कर दिया है कि उसके भंडार में अभी मौजूद पूरे तेल की बिक्री हो चुकी है...

Pakistan: crude oil
Pakistan: crude oil - फोटो : Agency (File Photo)
विज्ञापन

विस्तार

पाकिस्तान की शहबाज शरीफ ने रूस से रियायती दरों पर पेट्रोल, डीजल और कच्चा तेल खरीदने का सौदा कर लिया है। इस कदम को सत्ताधारी गठबंधन पाकिस्तान डेमोक्रेटिक मूवमेंट (पीडीएम) के एक बड़े नीति परिवर्तन के रूप में देखा जा रहा है। इस वर्ष फरवरी में यूक्रेन युद्ध शुरू होने के तुरंत बाद तत्कालीन इमरान खान सरकार ने रूस से ऐसा सौदा करने का इरादा दिखाया था। लेकिन अगले ही महीने इमरान खान देश के अंदर सियासी चुनौतियों में उलझ गए और अप्रैल में उनकी सरकार गिर गई। इमरान खान ने आरोप लगाया था कि रूस से उनके प्रस्तावित समझौते के कारण ही उनकी सरकार गिराने की ‘साजिश विदेश में रची’ गई।

पीडीएम सरकार ने सत्ता में आने के बाद अमेरिका से रिश्ते सुधारने को प्राथमिकता दी है। इसका फायदा भी उसे मिला, जब अमेरिका ने एफ-16 लड़ाकू विमानों के पाट-पुर्जे उसे देने को मंजूरी दे दी और फाइनेंशियल एक्शन टास्क फोर्स के ग्रे लिस्ट से उसे बाहर करवाने में मददगार बना। लेकिन अब देश में बढ़ते आर्थिक संकट के बीच पीडीएम सरकार ने रूस से करार कर लिया है। कूटनीतिक विशेषज्ञों के मुताबिक इसकी अमेरिका में कड़ी प्रतिक्रिया हो सकती है। अमेरिका और पश्चिमी देशों की प्राथमिकता रूस को दुनिया में अलग-थलग करना है।

पाकिस्तान के पेट्रोलियम राज्यमंत्री मुसादिक मलिक ने सोमवार को यहां एक प्रेस कांफ्रेंस कर रूस से हुए समझौते का एलान किया। रूस यात्रा से लौटे मलिक ने कहा- ‘मैं अपनी सफल रूस यात्रा के लिए देश के आवाम को बधाई देना चाहता हूं। मेरी यात्रा उम्मीद से भी ज्यादा कामयाब रही।’ 

मलिक के साथ पाकिस्तान सरकार के वरिष्ठ अधिकारी भी मास्को गए थे। उन्होंने कहा कि रूस की निजी कंपनियों से लिक्विफाइड नेचुरल गैस (एलएनजी) खरीदने के लिए भी बातचीत शुरू की गई है। साथ ही रूस से पाकिस्तान तक गैस पाइपलाइन बिछाने से जुड़ी बातचीत में भी महत्त्वपूर्ण प्रगति हुई है।

पाकिस्तान के अखबार द न्यूज ने पिछले हफ्ते खबर दी थी कि रूस गए पाकिस्तानी प्रतिनिधिमंडल ने रूस से कच्चे तेल पर 30 से 40 फीसदी तक का डिस्काउंट मांगा था। उस खबर में बताया गया था कि रूस ने कोई डिस्काउंट देने से यह कहते हुए इनकार कर दिया है कि उसके भंडार में अभी मौजूद पूरे तेल की बिक्री हो चुकी है। गैस पाइपलाइन के मामले ने रूस ने पाकिस्तान से कहा था कि वह पहले पाकिस्तान स्ट्रीम गैस पाइपलाइन (पीएसजीपी) के बारे में अपने वायदों को पूरा करे। ये पाइपलाइन कराची से लाहौर तक बिछाई जानी है।

द न्यूज के मुताबिक मलिक के नेतृत्व में गए दल ने रूस के सामने पीएसजीपी के मॉडल में बदलाव का प्रस्ताव रखा। लेकिन रूस ने इसे नामंजूर कर दिया। रूस ने कहा कि यह प्रोजेक्ट सरकारों के बीच आपसी सहमति के तहत बनना है और इस मॉडल में बदलाव नहीं किया जा सकता। उसने कहा कि शेयरहोल्डिंग के बारे में कुछ प्रावधान तय होने हैं, जिन्हें पाकिस्तान को जल्द ही अंतिम रूप देना चाहिए।

विज्ञापन

पर्यवेक्षकों के मुताबिक मलिक ने सोमवार को जो दावे किए, अगर वे सही हैं, तो इसे रूस और पाकिस्तान के बीच संबंध मजबूत करने की दिशा में एक बड़ी प्रगति माना जाएगा।

विज्ञापन
विज्ञापन

रहें हर खबर से अपडेट, डाउनलोड करें Android Hindi News App, iOS Hindi News App और Amarujala Hindi News APP अपने मोबाइल पे|
Get latest World News headlines in Hindi related political news, sports news, Business news all breaking news and live updates. Stay updated with us for all latest Hindi news.

विज्ञापन
विज्ञापन

एड फ्री अनुभव के लिए अमर उजाला प्रीमियम सब्सक्राइब करें

Election
एप में पढ़ें
जानिए अपना दैनिक राशिफल बेहतर अनुभव के साथ सिर्फ अमर उजाला एप पर
अभी नहीं

प्रिय पाठक

कृपया अमर उजाला प्लस के अनुभव को बेहतर बनाने में हमारी मदद करें।
डेली पॉडकास्ट सुनने के लिए सब्सक्राइब करें

क्लिप सुनें

00:00
00:00