लोकप्रिय और ट्रेंडिंग टॉपिक्स

Hindi News ›   World ›   PML N leader claims Nawaz Sharif would return to Pakistan next month

Pakistan: अगले महीने पाकिस्तान लौटेंगे नवाज शरीफ, आगामी आम चुनावों में संभालेंगे पार्टी की बागडोर

पीटीआई, इस्लामाबाद Published by: Jeet Kumar Updated Wed, 07 Dec 2022 05:52 PM IST
सार

आर्थिक मामलों के मंत्री अयाज सादिक से एक टीवी शो में जब शरीफ के स्वदेश आने को लेकर सवाल पूछा गया तो उन्होंने कहा कि पार्टी उनकी घर वापसी की प्रतीक्षा कर रही है।

नवाज शरीफ
नवाज शरीफ - फोटो : सोशल मीडिया
विज्ञापन

विस्तार

पाकिस्तान में इमरान खान सरकार के खिलाफ लगातार हमलावर हैं, उनकी पार्टी सरकार के खिलाफ मार्च आयोजित कर रही है। इस बीच खबर आ रही है कि पाकिस्तान मुस्लिम लीग-नवाज (पीएमएल-एन) के सुप्रीमो और पूर्व प्रधानमंत्री नवाज शरीफ अगले महीने लंदन से स्वदेश लौटेंगे। वह पिछले तीन से लंदन में इलाज करा रहे हैं।



आर्थिक मामलों के मंत्री अयाज सादिक से एक टीवी शो में जब शरीफ के स्वदेश आने को लेकर सवाल पूछा गया तो उन्होंने कहा कि पार्टी उनकी घर वापसी की प्रतीक्षा कर रही है। उनके शरीफ जनवरी (2023) में वापस आने की उम्मीद है। टीवी शो के दौरान उन्होंने कहा कि वह अगले आम चुनावों के लिए उम्मीदवारों को टिकट भी आवंटित करेंगे।


2019 में लंदन इलाज के लिए गए थे नवाज
नवाज शरीफ को इलाज के लिए 2019 में लाहौर उच्च न्यायालय ने विदेश जाने की अनुमति दी थी। तब से वह वह तब से ब्रिटेन में हैं और वहीं बैठकर अपनी पार्टी की बागडोर संभाल रहे हैं। उन्हें पाकिस्तान में भ्रष्टाचार के लिए दोषी ठहराया गया और जेल भेजा गया था।

अक्सर पीएमएल-एन के नेताओं से नवाज शरीफ की वापसी के बारे में पूछा जाता है। मंत्री ने यह भी कहा कि देश में अगला चुनाव अगस्त 2023 के बाद होगा क्योंकि उन्होंने पाकिस्तान तहरीक-ए-इंसाफ के नेताओं की अगले साल मार्च तक आम चुनाव कराने की मांग को खारिज कर दिया।

 2018 में भ्रष्टाचार मामले में दोषी ठहराए गए थे शरीफ
बता दें कि शरीफ को 2018 में एक विशेष अदालत ने दोषी ठहराया था। उनको कोर्ट ने अल-अजीजिया स्टील मिल्स मामले में सात साल की जेल की सजा सुनाई थी, वहीं एवेनफील्ड संपत्ति मामले में 80 लाख का जुर्माना लगाया था। इसके बाद, 2019 में, लाहौर उच्च न्यायालय ने उनकी सजा को निलंबित करने के बाद, उन्हें चिकित्सा के लिए विदेश जाने की अनुमति दी।

वहीं पीएमएल-एन के मुखिया नवाज की मांग तब से हो रही थी जब उनके छोटे भाई शहबाज शरीफ इस साल अप्रैल में पाकिस्तान के प्रधानमंत्री बने थे। पार्टी के अंदरूनी सूत्र ने कहा कि पीएमएल-एन सुप्रीमो नवाज अपने करीबी परिवार के सदस्यों के साथ परामर्श से अपना निर्णय लेते हैं। पाकिस्तान में नवाज के कार्यकर्ता और प्रसंशक उनको पंजाब का शेर बोलते हैं और वह  पाकिस्तान में रिकॉर्ड तीन बार प्रधानमंत्री बने। 

विज्ञापन
विज्ञापन

रहें हर खबर से अपडेट, डाउनलोड करें Android Hindi News App, iOS Hindi News App और Amarujala Hindi News APP अपने मोबाइल पे|
Get latest World News headlines in Hindi related political news, sports news, Business news all breaking news and live updates. Stay updated with us for all latest Hindi news.

विज्ञापन
विज्ञापन

एड फ्री अनुभव के लिए अमर उजाला प्रीमियम सब्सक्राइब करें

Election
एप में पढ़ें
जानिए अपना दैनिक राशिफल बेहतर अनुभव के साथ सिर्फ अमर उजाला एप पर
अभी नहीं

प्रिय पाठक

कृपया अमर उजाला प्लस के अनुभव को बेहतर बनाने में हमारी मदद करें।
डेली पॉडकास्ट सुनने के लिए सब्सक्राइब करें

क्लिप सुनें

00:00
00:00