Hindi News ›   World ›   Taliban rule Former Trump official said America should take help of India instead of Pakistan

तालिबान राज: ट्रंप की पूर्व अधिकारी बोलीं- पाक के बजाय भारत की मदद ले अमेरिका

एजेंसी, वाशिंगटन Published by: देव कश्यप Updated Wed, 22 Sep 2021 06:36 AM IST

सार

ट्रंप प्रशासन की पूर्व अधिकारी लीजा कर्टिस ने कहा है कि पाकिस्तान को अब दंड देने में देरी हो गई है। कर्टिस ने पत्रिका ‘फोरेन अफेयर्स’ में लिखा कि 2001 के बाद से अमेरिका का कोई प्रशासन पाकिस्तान को अपने क्षेत्र में तालिबान की गतिविधियों को रोकने के लिए समझाने में सफल नहीं हुआ है।
Lisa Curtis
Lisa Curtis - फोटो : Twitter@LisaCurtisDC
विज्ञापन
ख़बर सुनें

विस्तार

पूर्व अमेरिकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप के प्रशासन में पूर्व राष्ट्रीय सुरक्षा अधिकारी ने कहा है कि अफगानिस्तान में आतंक-निरोधी सहायता के लिए अमेरिका को भारत के साथ काम करना चाहिए। उन्होंने कहा, अमेरिका को पाकिस्तान पर निर्भरता का पुनर्मूल्यांकन करना चाहिए। बता दें कि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के 23 सितंबर से शुरू दौरे पर अमेरिकी राष्ट्रपति से मुलाकात के पहले यह बयान आया है।

विज्ञापन


ट्रंप प्रशासन की पूर्व अधिकारी लीजा कर्टिस ने कहा है कि पाकिस्तान को अब दंड देने में देरी हो गई है। सेंटर फॉर ए न्यू अमेरिकन सिक्योरिटी थिंक टैंक में हिंद-प्रशांत सुरक्षा कार्यक्रम की निदेशक कर्टिस ने एक पत्रिका में लिखा है कि 2001 से लेकर अब तक कोई भी अमेरिकी प्रशासन अपने क्षेत्र में तालिबान के विरुद्ध अभियान चलाने को लेकर पाकिस्तान को सहमत नहीं कर पाया है।


भारत को रोकने के लिए हक्कानी नेटवर्क पर निर्भर है पाकिस्तान
लिजा कर्टिस ने पत्रिका ‘फोरेन अफेयर्स’ में लिखा कि 2001 के बाद से अमेरिका का कोई प्रशासन पाकिस्तान को अपने क्षेत्र में तालिबान की गतिविधियों को रोकने के लिए समझाने में सफल नहीं हुआ है। उन्होंने लिखा, आईएसआईएस-के जैसे अन्य आतंकी गुटों को निशाना बनाते समय वाशिंगटन के लिए इस्लामाबाद के साथ काम करना संभव हो सकता है, लेकिन पाक खुफिया एजेंसी अलकायदा से जुड़े हक्कानी नेटवर्क को कभी निशाना नहीं बनाएगी। पाक सेना और आईएसआई भारत को अफगानिस्तान में पैर जमाने से रोकने के लिए हक्कानी नेटवर्क पर निर्भर हैं।

अलकायदा व आईएस की मौजूदगी से झाड़ा पल्ला
तालिबान ने अलकायदा और आईएस के आतंकवादियों की अफगानिस्तान में मौजूदगी के आरोपों से साफ इनकार किया है। यह बयान ऐसे वक्त आया है, जब आईएस ने जलालाबाद सीरियल धमाकों की जिम्मेदारी ले ली है। प्रवक्ता जबीहुल्लाह मुजाहिद ने पत्रकारों से कहा, आईएस बिना सामने आए कुछ कायराना हमले करता है। इसकी इराक और सीरिया में मौजूदगी है। लेकिन हमारे पास ऐसे संगठनों के देश में सक्रिय होने के कोई सबूत नहीं हैं।  हम इस बात के लिए प्रतिबद्ध हैं कि अफगानिस्तान से किसी भी देश को खतरा नहीं होगा। एजेंसी

धमाकों के बाद 40 लोग गिरफ्तार :
नंगरहार की राजधानी जलालाबाद में हुए सिलसिलेवार धमाकों को लेकर 40 लोगों को गिरफ्तार किया गया है। अरिआना न्यूज ने नंगरहार प्रांत के खुफिया निदेशालय प्रमुख बशीर के हवाले से यह जानकारी दी है।

आपकी राय हमारे लिए महत्वपूर्ण है। खबरों को बेहतर बनाने में हमारी मदद करें।

खबर में दी गई जानकारी और सूचना से आप संतुष्ट हैं?
विज्ञापन
विज्ञापन

रहें हर खबर से अपडेट, डाउनलोड करें Android Hindi News App, iOS Hindi News App और Amarujala Hindi News APP अपने मोबाइल पे|
Get latest World News headlines in Hindi related political news, sports news, Business news all breaking news and live updates. Stay updated with us for all latest Hindi news.

विज्ञापन
विज्ञापन
  • Downloads
    News Stand

Follow Us

  • Facebook Page
  • Twitter Page
  • Youtube Page
  • Instagram Page
  • Telegram
एप में पढ़ें

प्रिय पाठक

कृपया अमर उजाला प्लस के अनुभव को बेहतर बनाने में हमारी मदद करें।
डेली पॉडकास्ट सुनने के लिए सब्सक्राइब करें

क्लिप सुनें

00:00
00:00