लोकप्रिय और ट्रेंडिंग टॉपिक्स

Hindi News ›   World ›   Teenager stabbed to death during brawl at birthday party in Israel, less than a year after immigrating from In

Israel: जन्मदिन की पार्टी में 18 साल के युवक की बेरहमी से हत्या, एक साल पहले ही भारत से गया था

वर्ल्ड डेस्क, अमर उजाला, येरुशलम Published by: Amit Mandal Updated Fri, 07 Oct 2022 10:26 PM IST
सार

लेहिंगहेल को शब्बत के लिए घर आना था, लेकिन शुक्रवार सुबह 7 बजे एक दोस्त ने परिवार को फोन किया और उन्हें बताया कि कल रात झगड़े में वह घायल हो गया और अस्पताल में है।

प्रतीकात्मक तस्वीर
प्रतीकात्मक तस्वीर - फोटो : सोशल मीडिया
विज्ञापन
ख़बर सुनें

विस्तार

करीब एक साल से भी कम समय पहले भारत से इस्राइल जाकर बसे किशोर की हत्या कर दी गई। ये लड़का उत्तर-पूर्वी भारतीय यहूदी समुदाय बन्नी मेनाशे से था। उत्तरी इस्राइली शहर किर्यत शमोना में एक जन्मदिन की पार्टी में लड़ाई के दौरान चाकू मारकर उसकी हत्या कर दी गई। मीडिया रिपोर्ट्स ने शुक्रवार को ये जानकारी दी। मीडिया रिपोर्टों में कहा गया है कि इस साल की शुरुआत में अपने परिवार के साथ भारत से इस्राइल आकर बसे 18 वर्षीय योएल लेहिंगहेल ने भारत से आए एक दोस्त से मिलने के लिए नोफ हागलिल गया था। जन्मदिन की पार्टी में 20 से अधिक किशोरों के बीच एक विवाद छिड़ गया, जिसमें लेहिंगहेल भी शामिल था।   



13 से 15 साल के बीच के सात युवकों को हिरासत में लिया गया 
लेहिंगहेल को शब्बत के लिए घर आना था, लेकिन शुक्रवार सुबह 7 बजे एक दोस्त ने परिवार को फोन किया और उन्हें बताया कि कल रात झगड़े में वह घायल हो गया और अस्पताल में है। परिवार सफेद में अस्पताल के लिए जाने का इंतजाम भी नहीं कर पाया था कि सूचना दी गई कि लेहिंगहेल की मौत हो गई है। पुलिस ने घटना में शामिल होने के संदेह में पास के शहर चैटजोर हाग्लिट से एक 15 वर्षीय लड़के को गिरफ्तार किया है। टाइम्स ऑफ इस्राइली अखबार के मुताबिक, शुक्रवार को पुलिस ने कहा कि उन्होंने 13 से 15 साल के बीच के सात अन्य युवकों को भी हिरासत में लिया है।


परिचितों ने लेहिंगहेल को खुशमिजाज लड़का बताया 
नोफ हागलिल के मेयर रोनेन प्लॉट ने एक सोशल मीडिया पोस्ट में इसे अपने शहर का नुकसान बताया। उन्होंने लेहिंगहेल को एक खुश रहने वाला लड़का बताया। उसने इस्राइली सेना की एक लड़ाकू इकाई में शामिल होने की इच्छा जताई थी। प्लॉट ने कहा कि हिंसा के कारण एक जिंदगी खत्म हो गई, जो मेरी नजर में आतंक का काम है। लेहिंगहेल के साथ काम करने वाले सामाजिक कार्यकर्ता श्लोमो ने कहा कि वह आश्चर्यजनक रूप से यहां का अभ्यस्त हो गया था और अपने सभी दोस्तों से प्यार करता था। उसका कभी किसी से झगड़ा नहीं हुआ था। वह एक दोस्त के साथ एक पार्टी में गया था और इस अकल्पनीय तरीके से घायल हो गया। हम सभी के लिए यह बुरी खबर है।  

लेहिंगहेल बन्नी मेनाशे यहूदी समुदाय का सदस्य था जो पिछले दो दशकों से मणिपुर और मिजोरम के उत्तर-पूर्वी भारतीय राज्यों से इस्राइल गया था। माना जाता है कि बन्नी मेनाशे, मेनाशे की बाइबिल जनजाति के वंशज हैं, जो 2,700 साल से अधिक पहले इस्राइल की भूमि से निर्वासित दस खोई हुई जनजातियों में से एक है। 2005 में तत्कालीन सेफर्डिक प्रमुख रब्बी श्लोमो अमर ने उन्हें इस्राइल के वंशज घोषित कर दिया, जिससे इस्राइल में उनके आप्रवासन का मार्ग प्रशस्त हुआ था।  

 

आपकी राय हमारे लिए महत्वपूर्ण है। खबरों को बेहतर बनाने में हमारी मदद करें।

खबर में दी गई जानकारी और सूचना से आप संतुष्ट हैं?
विज्ञापन
विज्ञापन

रहें हर खबर से अपडेट, डाउनलोड करें Android Hindi News App, iOS Hindi News App और Amarujala Hindi News APP अपने मोबाइल पे|
Get latest World News headlines in Hindi related political news, sports news, Business news all breaking news and live updates. Stay updated with us for all latest Hindi news.

विज्ञापन
विज्ञापन
एप में पढ़ें
जानिए अपना दैनिक राशिफल बेहतर अनुभव के साथ सिर्फ अमर उजाला एप पर
अभी नहीं

प्रिय पाठक

कृपया अमर उजाला प्लस के अनुभव को बेहतर बनाने में हमारी मदद करें।
डेली पॉडकास्ट सुनने के लिए सब्सक्राइब करें

क्लिप सुनें

00:00
00:00