लोकप्रिय और ट्रेंडिंग टॉपिक्स

Hindi News ›   World ›   Ukraine recaptured 3 more Russian occupied territories Two Russians fled military service seek asylum in US

Ukraine: यूक्रेन ने रूसी कब्जे वाले तीन और क्षेत्र वापस छीने, सैन्य सेवा से भागे दो रूसी, यूएस से मांगी शरण

न्यूयॉर्क टाइम्स न्यूज सर्विस/ एएनआई, कीव/दिनिप्रो/अलास्का। Published by: देव कश्यप Updated Fri, 07 Oct 2022 01:06 AM IST
सार

रूसी राष्ट्रपति व्लादिमीर पुतिन ने जिन चार यूक्रेनी क्षेत्रों को यूरोप के सबसे बड़े विलय के रूप में अपने देश में शामिल किया था उनमें से एक खेरसान में यूक्रेन ने तीन शहरों को नियंत्रण में ले लिया है। यूक्रेनी राष्ट्रपति वोलोदिमीर जेलेंस्की ने कहा कि खेरसॉन के उत्तर-पूर्व में नोवोवोस्क्रेसेन्सके, नोवग्रेगोरिव्का और पेत्रोपेवलिवका को रूसी कब्जे से मुक्त करा लिया है।

Russia Ukraine War
Russia Ukraine War - फोटो : Agency (File Photo)
विज्ञापन
ख़बर सुनें

विस्तार

अनिर्वाय सैन्य सेवा के डर से देश छोड़कर भागने का दावा करने वाले रूस के दो नागरिकों ने बेरिंग सागर में स्थित सुदूर अलास्का द्वीप पर पहुंचने के बाद अमेरिका में शरणा मांगी है। सीनेटर लीसा मुरकोवस्की के कार्यालय ने गुरुवार को इसकी जानकारी दी। मुरकोवस्की की प्रवक्ता कैरीना बोर्गर ने ईमेल के माध्यम से बताया कि उनका कार्यालय अमेरिकी तटरक्षक और सीमा शुल्क एवं सीमा सुरक्षा विभाग के संपर्क में है और रूसी नागरिकों ने बताया है कि वे अनिवार्य सैन्य सेवा से बचने के लिए रूस के पूर्वी तट पर स्थित तटवर्ती इलाकों से भाग कर आए हैं। तटरक्षक और सीमा शुल्क एवं सीमा सुरक्षा विभाग के प्रवक्ताओं ने इस मुद्दे को अमेरिका की आंतरिक सुरक्षा विभाग का मामला बताया। लेकिन गुरुवार को विभाग की ओर से अभी तक कोई प्रतिक्रिया नहीं आई है।


यूक्रेन ने रूसी कब्जे वाले तीन और क्षेत्र वापस छीने
वहीं, रूसी राष्ट्रपति व्लादिमीर पुतिन ने जिन चार यूक्रेनी क्षेत्रों को यूरोप के सबसे बड़े विलय के रूप में अपने देश में शामिल किया था उनमें से एक खेरसान में यूक्रेन ने तीन शहरों को नियंत्रण में ले लिया है। यूक्रेनी राष्ट्रपति वोलोदिमीर जेलेंस्की ने कहा कि खेरसॉन के उत्तर-पूर्व में नोवोवोस्क्रेसेन्सके, नोवग्रेगोरिव्का और पेत्रोपेवलिवका को रूसी कब्जे से मुक्त करा लिया है। उधर रूस ने युद्ध में वापसी के लिए यूक्रेन पर हमले और बढ़ा दिए हैं।



यूक्रेनी सेना ने यह कार्रवाई रूसी राष्ट्रपति द्वारा अंतरराष्ट्रीय कानून को तोड़ते हुए चार प्रांतों के विलय पर अंतिम दस्तखत करने के ठीक बाद में की। जेलेंस्की ने बताया कि इन तीनों गांवों को पिछले 24 घंटे में मुक्त करवाया गया है। उन्होंने बताया कि यूक्रेन का जवाबी हमला जारी है। पुतिन ने यूक्रेन के दोनेस्क, लुहांस्क, खेरसान और जपोरिझिया क्षेत्रों पर कब्जा जमाने की घोषणा पहले ही कर दी थी। जबकि कीव में मॉस्को पर जमीन हड़पने का आरोप लगाया है। इस बीच, रूस की लगातार कई मोर्चों पर शिकस्त को देखते हुए उसने यूक्रेनी क्षेत्रों में हमले बढ़ा दिए हैं। रूसी सेना ने ईरानी-आपूर्ति वाले ड्रोन से कीव के दक्षिण में करीब 50 मील दूर बिला त्सेरकवा में धमाके किए। रूस अब लंबी दूरी के हथियारों से बिजली स्टेशनों को लक्षित कर रहा है।

बिला त्सेरकवा में बुनियादी ढांचा नष्ट
रूसी सेना द्वारा कीव के दक्षिण में किए गए ड्रोन हमलों में लक्ष्य स्पष्ट नहीं था लेकिन सितंबर के बाद से यह एक बड़ा हमला था। क्षेत्रीय सैन्य प्रशासन के प्रमुख ओलेक्सी कुलेबा ने कहा, बिला त्सेरकवा में हमलों ने बुनियादी ढांचे को भी नष्ट कर दिया है। हालांकि उन्होंने इसका पूरा विवरण नहीं दिया है। इन हमलों में रूसी सेना ने ईरान से प्राप्त 12 ड्रोनों का एक झुंड छोड़ा था। इनमें से तीन को यूक्रेनी विमान भेदी यूनिटों ने मार गिराया।

जपोरिझिया के आसपास भी रूसी हमले
एक क्षेत्रीय सैन्य गवर्नर ने कहा कि बुनियादी ढांचे पर एक और हमले में एक रूसी मिसाइल बैराज ने दक्षिणी यूक्रेन के ज़पोरिझिया शहर में और उसके आसपास के स्थलों को निशाना बनाया। इस हमले में कितना नुकसान हुआ है अभी यह स्पष्ट नहीं है लेकिन रूस इस कोशिश में है कि यूक्रेन द्वारा हाल ही में रूसी कब्जे से छु़ड़ाए गए इलाकों को दोबारा उसके कब्जे में ले लिया जाए। 

हम कब्जाधारियों को अपनी जमीन से खदेड़ेंगे : जेलेंस्की
यूक्रेन के राष्ट्रपति वोलोदिमीर जेलेंस्की ने कहा, हमारे योद्धा रुक नहीं रहे हैं और ये बस समय की ही बात है जब हम कब्जा करने वालों को अपनी जमीन से खदेड़ देंगे। वह दिनिप्रो नदी के पश्चिम में अपनी मौजूदगी मजबूत कर रहा है और युद्ध के मैदान से आ रही रिपोर्टों के मुताबिक उत्तर-पश्चिम में भी यूक्रेन की स्थिति मजबूत हो रही है। यूक्रेन का कहना है कि उसने लुहांस्क क्षेत्र में भी बढ़त बनाई है जो अब से पहले पूरी तरह रूस के नियंत्रण में था।
विज्ञापन

रूस ने अमेरिका को दी चेतावनी
अमेरिका द्वारा यूक्रेन को और अधिक सैन्य मदद के रूप में उसे 62.5 करोड़ डॉलर की तुरंत सैन्य मदद भेजने का वादा किया गया है। इस पर तीखी प्रतिक्रिया देते हुए रूसी राष्ट्रपति ने कहा है कि इससे रूस के लिए आपात खतरा पैदा हुआ है और अमेरिका इस संघर्ष का हिस्सा बन रहा है। अमेरिका में रूस के राजदूत एनाटोली एनटोनोफ ने चेताया कि हम अमेरिका से उकसावे के ऐसे कदम रोकने की अपील करते हैं। इनके बहुत गंभीर परीणाम हो सकते हैं।

आपकी राय हमारे लिए महत्वपूर्ण है। खबरों को बेहतर बनाने में हमारी मदद करें।

खबर में दी गई जानकारी और सूचना से आप संतुष्ट हैं?
विज्ञापन
विज्ञापन

रहें हर खबर से अपडेट, डाउनलोड करें Android Hindi News App, iOS Hindi News App और Amarujala Hindi News APP अपने मोबाइल पे|
Get latest World News headlines in Hindi related political news, sports news, Business news all breaking news and live updates. Stay updated with us for all latest Hindi news.

विज्ञापन
विज्ञापन
एप में पढ़ें
जानिए अपना दैनिक राशिफल बेहतर अनुभव के साथ सिर्फ अमर उजाला एप पर
अभी नहीं

प्रिय पाठक

कृपया अमर उजाला प्लस के अनुभव को बेहतर बनाने में हमारी मदद करें।
डेली पॉडकास्ट सुनने के लिए सब्सक्राइब करें

क्लिप सुनें

00:00
00:00