जबरन श्रम पर अमेरिकी संसद में चीनी माल के आयात पर प्रतिबंध

न्यूयॉर्क टाइम्स न्यूज सर्विस, वाशिंगटन Published by: Jeet Kumar Updated Thu, 24 Sep 2020 12:39 AM IST
अमेरिकी संसद
अमेरिकी संसद - फोटो : iStock
विज्ञापन
ख़बर सुनें
अमेरिका चीन के बीच तनाव के बीच अमेरिकी संसद में एक और विधेयक कारोबारियों और चैंबर ऑफ कॉमर्स के विरोध के बावजूद पारित हो गया। यह बिल चीन के शिंजियांग प्रांत में उइगर मुस्लिमों से कराए जा रहे जबरन श्रम के खिलाफ है जिसके तहत ऐसे सामान के अमेरिका में आने पर रोक लगा दी गई है। यहां उइगर मुस्लिमों को कैंपों में रखकर जबरन माल तैयार कराने के आरोप हैं।
विज्ञापन


प्रतिनिधि सभा में उइगर जबरन श्रम निवारण अधिनियम के पक्ष में 406 मत पड़े जबकि विरोध में सिर्फ तीन। कानून को प्रभावी होने के पहले सीनेट से पास कराना जरूरी होगा। संयुक्त राष्ट्र के मुताबिक, शिंजियांग प्रांत के शिविरों में कम से कम दस लाख उइगर और अन्य अल्पसंख्यक मुसलमानों को रखा गया है।



इस इलाके में मुस्लिम आबादी को चीनी अधिकारी लंबे समय से प्रताड़ित करते रहे हैं। अमेरिकी संसद के निचले सदन की स्पीकर नैंसी पेलोसी ने कहा, यह दुख की बात है कि जबरन श्रम के उत्पाद अक्सर अमेरिकी दुकानों और घरों में खपाए जाते हैं। बीजिंग को स्पष्ट संदेश देना चाहिए कि ऐसे अत्याचार अब बंद होने चाहिए।

कारोबारियों ने की आलोचना
प्रतिनिधि सभा द्वारा पारित इस विधेयक की अमेरिकी कारोबारियों और चैंबर ऑफ कॉमर्स ने आलोचना की है। ऐसा इसलिए क्योंकि उनके कारोबार में अधिकांश कपड़ों में यहीं का धागा शामिल होता है। अधिकार संगठन के एक शोध के मुताबिक अमेरिका में आने वाले 20 फीसदी से अधिक कपड़ों में इस्तेमाल हुआ कुछ ना कुछ धागा शिनजियांग प्रांत में ही तैयार होता है।  

आपकी राय हमारे लिए महत्वपूर्ण है। खबरों को बेहतर बनाने में हमारी मदद करें।

खबर में दी गई जानकारी और सूचना से आप संतुष्ट हैं?
विज्ञापन
विज्ञापन

रहें हर खबर से अपडेट, डाउनलोड करें Android Hindi News App, iOS Hindi News App और Amarujala Hindi News APP अपने मोबाइल पे|
Get latest World News headlines in Hindi related political news, sports news, Business news all breaking news and live updates. Stay updated with us for all latest Hindi news.

विज्ञापन
विज्ञापन

प्रिय पाठक

कृपया अमर उजाला प्लस के अनुभव को बेहतर बनाने में हमारी मदद करें।
डेली पॉडकास्ट सुनने के लिए सब्सक्राइब करें

क्लिप सुनें

00:00
00:00