लोकप्रिय और ट्रेंडिंग टॉपिक्स

Hindi News ›   World ›   Ramesh Balwani and Elizabeth Holmes sentenced to jail

US News: अमेरिका में भारतवंशी रमेश बलवानी को 13 साल की जेल, पूर्व प्रेमिका एलिजाबेथ होम्स को भी सजा

वर्ल्ड डेस्क, अमर उजाला, वॉशिंगटन Published by: सुरेंद्र जोशी Updated Thu, 08 Dec 2022 08:46 AM IST
सार

बलवानी ने थेरानोस की भ्रामक ब्लड टेस्टिंग रिपोर्ट के जरिए मरीजों की जान को खतरे में डाला और निवेशकों के साथ लाखों डॉलर की धोखाधड़ी की। बार-बार प्रौद्योगिकी खामियों के बावजूद रमेश बलवानी और उनकी पूर्व गर्ल फ्रेंड एलिजाबेथ होम्स ने अपने निवेशकों और पीड़ितों को धोखा देना जारी रखा।

भारतवंशी रमेश 'सन्नी' बलवानी को अमेरिका में सजा
भारतवंशी रमेश 'सन्नी' बलवानी को अमेरिका में सजा - फोटो : social media
विज्ञापन

विस्तार

अमेरिकी कोर्ट ने भारतवंशी रमेश 'सनी' बलवानी को 13 साल की जेल की सजा सुनाई है। उन्हें अपनी पूर्व गर्ल फ्रेंड व अमेरिकी स्टार एलिजाबेथ होम्स द्वारा स्थापित ब्लड टेस्टिंग स्टार्टअप कंपनी थेरानोस के जरिए निवेशकों व पीड़ितों से धोखाधड़ी का दोषी माना गया है। बलवानी थेरानोस के पूर्व मुख्य कार्यकारी अधिकारी (COO) हैं। इस मामले में होम्स को पिछले माह सजा सुनाई जा चुकी है। 



57 वर्षीय बलवानी को कैलिफोर्निया की कोर्ट ने बुधवार को 12 साल 11 माह तक संघीय जेल में रखने का आदेश दिया। अमेरिकी अटॉर्नी स्टीफन हिंड्स ने बताया कि बलवानी ने थेरानोस की भ्रामक ब्लड टेस्टिंग रिपोर्ट के जरिए मरीजों की जान को खतरे में डाला और निवेशकों के साथ लाखों डॉलर की धोखाधड़ी की। बार-बार प्रौद्योगिकी खामियों के बावजूद रमेश बलवानी और उनकी पूर्व गर्ल फ्रेंड एलिजाबेथ होम्स ने अपने निवेशकों और पीड़ितों को धोखा देना जारी रखा।


हिंड्स ने कहा कि देश के स्वास्थ्य तंत्र में मरीज की सुरक्षा व सेहत को सर्वोच्च प्राथमिकता दी जाती है। सिलिकॉन वैली लंबे समय से हेल्थकेयर स्टार्ट-अप का केंद्र रही है। बलवानी ने सिलिकॉन वैली के अगुआ बनने की होड़ में रोगी की सुरक्षा से कहीं अधिक मूल्यवान व्यावसायिक सफलता और निजी कमाई को माना। बलवानी का जन्म पाकिस्तान में हुआ था, लेकिन उनका परिवार भारत आ गया था। 1980 के दशक में वे पढ़ने के लिए अमेरिका गए थे। उन्होंने टेक्सास यूनिवर्सिटी में पढ़ाई की। 

एलिजाबेथ होम्स को 11 साल की जेल, अप्रैल तक सरेंडर करने का वक्त
एलिजाबेथ होम्स को इसी मामले में पिछले महीने जिला जज न्यायाधीश डेविला ने 11 साल और 3 महीने की सजा सुनाई थी। उसे 27 अप्रैल 2023 को जेल में सरेंडर करने का वक्त दिया गया है। जज डेविला ने बलवानी को भी सरेंडर करने के लिए 15 मार्च 2023 तक का वक्त दिया गया है। बलवानी को 155 माह जेल में रहने के साथ ही रिहाई के बाद तीन साल तक निगरानी में रखा जाएगा। 

37 की उम्र मेें 18 साल की एलिजाबेथ से हुआ था प्यार
रमेश बलवानी 37 साल की उम्र में 18 साल की एलिजाबेथ होम्स से पहली बार मिले थे और दोनों को प्यार हो गया था। उन्होंने सितंबर 2009 से जुलाई 2016 तक पालो आल्टो स्थित ब्लड टेस्टिंग कंपनी में नौकरी की थी। इस कंपनी की स्थापना 2003 में एलिजाबेथ होम्स ने की थी। उस वक्त वह अमेरिका की उभरती अभिनेत्री थी। 

विज्ञापन
विज्ञापन

रहें हर खबर से अपडेट, डाउनलोड करें Android Hindi News App, iOS Hindi News App और Amarujala Hindi News APP अपने मोबाइल पे|
Get latest World News headlines in Hindi related political news, sports news, Business news all breaking news and live updates. Stay updated with us for all latest Hindi news.

विज्ञापन
विज्ञापन

एड फ्री अनुभव के लिए अमर उजाला प्रीमियम सब्सक्राइब करें

Election
एप में पढ़ें
जानिए अपना दैनिक राशिफल बेहतर अनुभव के साथ सिर्फ अमर उजाला एप पर
अभी नहीं

प्रिय पाठक

कृपया अमर उजाला प्लस के अनुभव को बेहतर बनाने में हमारी मदद करें।
डेली पॉडकास्ट सुनने के लिए सब्सक्राइब करें

क्लिप सुनें

00:00
00:00